अलविदा विमल काका (Farewell Vimal Kaka)

As 2022 comes to an end, we reflect on the year. It has been a tough year for many reasons, but the biggest one is losing our Vimal Kaka. He was the force behind our determination to fight for justice against the demolition of our homes. His demise has left a big void in our hearts and homes. But his words, methods and vision will continue with us. We will continue the movement.

2022 समाप्त हो रहा है। हमारे लिए कई कारणों से कठिन वर्ष रहा है, इस वर्ष ख़ोरी गाँव की मजबूत आवाज हमारे विमल काका को खोना रहा । वह हमारे घरों के विध्वंस के खिलाफ न्याय के लिए लड़ने के हमारे दृढ़ संकल्प के पीछे की ताकत थे। उनके निधन से हमारे दिलों और घरों में एक बड़ा खालीपन आ गया है। लेकिन उनकी बातें, तौर-तरीके और दूरदृष्टि हमारे साथ बनी रहेगी। हम ख़ोरी गाँव के संघर्ष की लड़ाई लड़ते रहेंगे।