Meet the lawyers वकीलों से मिलें

The rehabilitation policy and Khori Gaon’s demolition was challenged in the Supreme Court by Senior Advocate Sanjay Parikh, Advocate Srishti Agnihotri, Advocate Tripti Poddar, Advocate Satwik Parikh and Advocate Sanjana Grace Thomas. The rehabilitation policy case was SHANTI DEVI, ANITA, BEENA GYAN, SAROJ PASWAN, & BABBO VS. GOI and others W.P.(C) No.-1023/2021 and the demolition case still going on in court is REKHA, PINKI & PUSHPA VS. GOI and others W.P.(C) No.-000788/2021. To follow the legal developments read the court orders and legal news.

खोरी गांव के विध्वंस को चुनौती दी गई “रेखा, पिंकी और पुष्पा बनाम भारत सरकार और अन्य WP (C) नंबर-000788/2021 केस द्वारा और बाद में तथाकथित पुनर्वास नीति को “शांति देवी, अनीता, बीना ज्ञान, सरोज पासवान, और बब्बो बनाम भारत सरकार” अन्य WP(C) No.-1023/2021 वाले केस में चुनौती दी गई।

सुप्रीम कोर्ट में सीनियर एडवोकेट संजय पारिख, एडवोकेट सृष्टि अग्निहोत्री, एडवोकेट तृप्ति पोद्दार, एडवोकेट सात्विक पारिख और एडवोकेट संजना ग्रेस थॉमस ने पैरवी की। कानूनी विकास का पालन करने के लिए अदालत के आदेश और कानूनी समाचार पढ़ें। सुप्रीम कोर्ट की तारीख वाले खोरी अपडेट में आपको आदेशों का हिंदी अनुवाद मिलेगा।